10/2/10

हुक्म करो मेरे आका!


चलिए इस बार ब्लॉग के बहाने थोड़ा और नेट सैवी हो जाएं. नो पॉलिटिक्स, नो लिटरेचर, नो सटायर, नो फैंटसी. बस थोड़ा टेक्निकल. कम्प्यूटर है तो इंटरनेट है, इंटरनेट है तो पूरी दुनिया मुट्ठी में. की-बोर्ड पर उंगलियां थिरकी नहीं कि स्क्रीन पर अलादीन के चिराग वाला जिन्न प्रकट हो कर कहता है, हुक्म करो मेरे आका. अलादीन के पास तो एक जादुई चिराग था, इंटरनेट पर इनकी भरमार है. बस, एक क्लिक और जिन्न प्रकट. हां, एक बात जरूर है कि कुछ ई-जिन्न कभी-कभी सर्विस फीस भी वसूलते हैं. लेकिन ढेर सारे जिन्न समाजसेवी स्टाइल में सर्विस देते हैं बिल्कुल फ्री. और अगर गलती से आपने किसी ऐसे जिन्न को कॉल कर लिया जो आपकी डिमांड पूरी नहीं कर पा रहा तो वो आपको चट से दूसरे जिन्न का पता बता देगा. आप समझ गए होंगे, यहां जिन्न से मतलब वेब साइट्स से है. तो आज ब्लॉग के बहाने ऐसी वेब साइट्स की बात करेंगे तो आपके कम्प्यूटर के लिए मददगार हो सकती है और इंटरनेट के सफर को और सुहाना बना सकती है.
चिंता मत करिए, ये सर्विस फ्री है और अगर फ्री नहीं भी होगी तो है ना जुगाड़ डॉट कॉम.
इसके लिए आपको हरिद्वार ले चलते हैं मयंक भारद्वाज के पास. उनके पास एक पिटारा है जिसका नाम है ‘मेरी दुनिया’. वो नेट पे्रमी भक्तों को इसे पिटारे से प्रसाद बांटते रहते हैं. सबसे पहले उनके पिटारे में मौजूद ऑनलाइन टीवी की बात करते हैं. इसके लिए एक साइट है watchanytv.com . इस पर आप केवल इंडिया के ही नहीं, पूरी दुनिया के प्रमुख चैनल्स देख सकते हैं. एक और मस्त साइट है hindilinks4u.net . इस पर आप भी करिए आर एंड डी (रिसर्च एंड डेवलपमेंट). ये ऐसी चीज है जो हमारी फितरत में शामिल है. इंटरनेट तो ऐसी दुनिया है जहां हर दूसरी गली लोगों को ‘आर एंड डी’ के लिए प्रवोक करती है. कभी इन अंजान रास्तों पर अच्छे दोस्त मिलते हैं तो कभी पॉकेटमार, उचक्के और लफंगे भी टकरा जाते हैं जिन्हें हम वायरस या हैकर्स कहते हैं. यानी सज्जन और बदमाश दोनों तरह के लोग हैं यहां. कभी नेट की इस भूलभुलैया से निकलने के लिए हेल्पलाइन इस्तेमाल करनी पड़ती है. मंयक की दुनिया सही रास्ता दिखाने में मददगार साबित हो सकती है. रास्ता ही नहीं, आपको स्टाइल भी सिखाने वाली वेबसाइट्स हैं वहां. आजकल प्रजेंटेशन का जमाना है, इस लिए स्टाइल को एप्लाई कैसे करना है इसके लिए है computerlife2.blogspot.com है. यहां मिलेंगे नए-नए फांट, होमपेज, एंटी वायरस, एंटी वायरस प्रोग्राम्स, उपयोगी टूल्स और भी न जाने क्या-क्या. सब कुछ बिल्कुल मुफ्त. तो सोच क्या रहे हैं जुट जाइए आर एंड डी में और फंस गए तो mayankaircel.blogspot.com है ना निकालने के लिए. मैंने भी ‘आर एंड डी’ के चक्कर में एक जगह उंगली कर दी है अब निकलने का भूलभुलैया से निकलने का रास्ता खोज रहा हूं.

My Blog List